मैं, मयंक सक्सेना अपनी नागरिकता सिद्ध करने के लिए दिए जाने वाले दस्तावेज़ किसी भी ऐसी प्रक्रिया के लिए किसी संस्था/सरकार को सौंपने से इनकार करता हूं। इस षड्यंत्र को मूकदर्शक बन कर देखने की जगह, सत्याग्रह का रास्ता अपना कर, उनके साथ खड़े रहने का निर्णय लेता हूं।

अगर किसी नतीजे/निर्णय पर संतुष्ट पक्ष खुल कर खुशी मना रहा है, लेकिन असंतुष्ट पक्ष खुल कर असंतोष ज़ाहिर करने की जगह चुप है...तो ये सौहार्द की नहीं, ख़ौफ़ के सन्नाटे की मिसाल है साहेब!! ये प्रेम नहीं, डर की जीत है...और न्याय तो ख़ैर अब किसी और युग का शब्द लगता है

नीतीश कुमार पूरी बेइज़्ज़ती करवा कर ही एनडीए छोड़ेंगे। न जाने कौन सी कमज़ोर इस दबी हुई है, अवसरवादी कुमार की!! 😊 कट्टरपंथी होने के बावजूद शिवसेना और नीतीश में ये अंतर है, शिवसेना में रीढ़ की हड्डी, थोड़ी सी बची है!

शिवसेना के साथ सत्य है। ऐसे झूठे माहौल में दिल्ली की सरकार में मैं क्या करूँगा?
अतः मैं केंद्रीय मंत्री के पद से आज 11 नवम्बर, 2019 को इस्तीफ़ा देता हूँ।
@AGSawant के इस्तीफ़े के साथ 3 दशक की दोस्ती-गठबंधन का अंत। तो क्या ये एनडीए के बिखराव की शुरुआत है? अब बिहार?

केंद्र सरकार में शिवसेना कोटे से मंत्री अरविंद सावंत का इस्तीफा
मुंबई : राज्य में राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता अरविंद सावंत ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। उन्होंने आज 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस की बात कही है
hindi.hwnews.in/news/kendra-sa

अब अर्थव्यवस्था भी बचा लीजिये सर, या वो भी अदालत से करवाना है?

लगे हाथ ये फैसला भी सुना देते साहब कि इस देश पर किसका मालिकाना हक़ है, ये मुल्क़ किसका है और किसका नहीं...

अब जब सुप्रीम कोर्ट ने ये मान ही लिया है कि 'देवता एक कानूनी व्यक्ति है', तो फिर ये बताएं कि बारिश न होने, बाढ़ आ जाने, अर्थव्यवस्था गिरते जाने पर कौन-कौन से केस, किस-किस के ख़िलाफ़ और किन अदालतों में किये जाने चाहिए?

न्याय-अन्याय कुछ नहीं होता, पिछले कुछ हज़ार साल में हर धर्म का इतिहास ये साबित करता है। आधुनिक दुनिया में भी धर्म की एंट्री होते ही, लॉजिक ख़त्म हो जाता है। आप मानें या न माने-ये बात हर धर्म के लिए सच है! समस्या के मूल में धर्म की राजनीति नहीं, धर्म राजनीति ही है बस!!

इन दो पंक्तियों को किसी भी धर्म के रिफरेंस में पढ़िए, अभी ही समय है ये समझने का!
1. न्याय हमेशा तर्क और तथ्य के आधार पर होता है।
2. आस्था में तर्क नहीं चलता, तथ्य की ज़रूरत नहीं।
अब बताइये कि आखिर आस्था या धर्म के मामले में न्याय की गुंजाइश भी कैसे हो सकती है?

Happy anniversary

Baar baar phenko hazaar baar phenko, ki phenkne mein tez hai vikas ke pita....

youtube.com/watch?v=VyEXm1cQRi

by The Banned India feat @MayankS Rossi, Ramneek Singh Dhamma, Siddhartha and Mithun.

@RahulGandhi@mstdn.social welcome to the party 😀

So we released this song 2 years back on 1st anniversary of and 1st death anniversary of it's still relevant and the is still as effective in getting all credit to the Supreme Leader... Here again enjoy the by our band 'The Banned'

youtu.be/VyEXm1cQRiY

Mastodon

Server run by the main developers of the project 🐘 It is not focused on any particular niche interest - everyone is welcome as long as you follow our code of conduct!